IAS Full Form In Hindi | IAS को हिंदी में क्या कहते है?

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे एक और नए आर्टिकल IAS Full Form In Hindi में। इस आर्टिकल में हम आपको आईएएस रिलेटेड जानकारी देने वाले है. साथ ही हम आपको ये भी बताएंगे की आईएएस की फुल फॉर्म क्या होती है ?तो चलिए दोस्तों शुरू करते है।

IAS Full Form In Hindi

IAS Full Form In Hindi आईएएस की फूल फॉर्म Indian Administrative Services होती है। इसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहा जाता है. अगर आप भी एक आईएएस अफसर बनना चाहते है तो इसके लिए आपको upsc के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली परीक्षा को पास करना होगा। upsc की फूल फॉर्म यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन होती है. यह प्रत्येक वर्ष आईएएस और आईपीएस जैसी परीक्षाओ का आयोजन करती है.

आईएएस क्या होता है ?

आईएएस अखिल भारतीय सेवा है. इस सेवा के तहत आपको देश सेवा करने का अवसर प्रधान किया जाता है. एक आईएएस अफसर बनने के लिए आपको यूपीएससी के द्वारा ली जाने वाली परीक्षा को पास करना है. इसके परीक्षा के तीन चरण होते है. आपको इन तीनो चरणों को पास करना होता है. ये चरण है प्रीलिम्स , मेन्स और इंटरव्यू। इसके लिए आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी है. यह डिग्री किसी भी स्ट्रीम में हो सकती है.

आईएएस अफसर कैसे बने ?

जैसे की हमने आपको ऊपर बताया है की आपको आईएएस अफसर बनने के लिए यूपीएससी द्वारा आयोजित करवाई जाने परीक्षा को को पास करना होता है. इसके तीन चरण होते है. प्रारंभिक परीक्षा के दो पेपर होते है और माध्यमिक परीक्षा के 9 पेपर आते है. प्रारंभिक और माध्यमिक परीक्षा को पास करने के बाद आपका साक्षात्कार लिया जाता है. अगर आप साक्षात्कार को भी पास कर लेते है तो फिर आप आईएएस बन जाते है. आईएएस बनने के बाद आपको राज्य स्तर पर अपनी सेवा देनी होती है.

इस परीक्षा की शुरुआत अंग्रेजो ने की थी. तब इसे ICS के नाम से जाना जाता था. स्वतंत्रता के बाद इस परीक्षा को आईएएस का नाम दिया गया.

आईएएस अफसर के कार्य क्या है ?

ये अधिकारी सरकार के लिए काम करते है. ये अधिकारी सरकार के द्वारा बनाई गई नीतियों को लागू करवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है. आईएएस अधिकारियों के द्वारा निम्न कार्य किये जाते है –

  1. आईएएस अधिकारी कानून व्यवस्था की निगरानी रखते है.
  2. सरकार के सभी कार्यो की देखरेख करते है।
  3. सरकार के द्वारा बनाई गई नीतियों को लागू करवाते है.
  4. इनका मुख्य कार्य सार्वजनिक निधि प्रबंधन की देखरेख करना है.
  5. ये अधिकारी निति निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है.

इसी तरह की और पोस्ट पढने के लिए हमारी वेबसाइट को फॉलो करे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top